मातृभूमि सेवा मिशन

एक परिचय

मातृभूमि सेवा मिशन एक आध्यात्म प्रेरित स्वैच्छिक सेवा संगठन है, जो युवाओं की करूणा एवं समाज के दायित्व बोध से संचालित है। मिशन की विधिावत् स्थापना युवा तरूण तपस्वी परिव्राजक डॉ॰ श्रीप्रकाश मिश्र के द्वारा स्वामी विवेकानन्द जयंती एवं राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर 12 जनवरी 2003 को श्रीमद्भगवद्गीता जन्मस्थली कुरुक्षेत्र् में हुआ। मिशन विगत् पंद्रह वर्षों से मानवता की सेवा को अपना लक्ष्य बना कर अनवरत प्रयासरत है। मिशन समाज के कुष्ठ रोगियों के स्वस्थ बच्चों, गरीब असहाय एवं जरूरतमंद बच्चों के सर्वांगिण विकास के लिए समर्पित है।
मिशन द्वारा ऐसे बच्चों को समस्त सुविधाएं नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जाती हैं। मिशन द्वारा अब तक लगभग 250 बच्चों को शिक्षित-दीक्षित कर राष्ट्र एवं समाज की मुख्य धारा से जोड़कर स्वावलम्बी बनाया जा चुका है। मिशन एक स्वैच्छिक संगठन होने के नाते अपने नि:स्वार्थ भाव से सहयोग करने वाले समाज के प्रति स्व-दायित्व बोधा से प्रेरित समूह के साथ निरंतर प्रगति की ओर अग्रसर है। मिशन के द्वारा शीघ्र ऐसे ही 200 बच्चों के लिए आवासीय केन्द्र बनाना प्रस्तावित है।
मिशन के सेवा कार्यों को मॉरिसस गणराज्य के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, कैबिनेट मंत्री, उच्चायुक्त, जापान के राजदूत, पूज्य जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी अवधोशानंद गिरि जी महाराज जैसे देश के मूर्धान्य संत, भारत में पदस्थ अनेक देशों के राजदूत सहित, भारत के माननीय सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति एम.एन. वेंकटाचलैया, हरियाणा के पूर्व राज्यपाल, डॉ. आर. किदवई, उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल, माननीय श्री बी.एल. जोशी, हिमाचल के पूर्व राज्यपाल, न्यायमूर्ति वी.एसकोकजे, माननीय उच्च न्यायालय के न्यायाधीश, अनेक प्रांतों के मुख्यमंत्री एवं मंत्री, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के माननीय सह सरकार्यवाह एवं कई अखिल भारतीय अधिकारी, योग गुरु डॉ. एचआर. नागेन्द्र, सीबीआई के पूर्व निदेशक जोगिन्द्र

Homework help is a serious issue, as many people hate doing their homework. Among the primary things that should be dealt with with homework help is custom writing how it can be acquired by you. There are a number of tricks that could make them interested in homework While a lot of individuals do not have much of an interest in getting homework assistance. The first thing you need to do is become interested in finishing your homework if you would like to get homework help from a computer program or a company. From that point, all you need

A good essay helper can work wonders for essay writer your own essays. An essay helper is a pupil who’s assigned to take the work of a person who needs a little bit of additional help in completing the assignment. This is done as a favor to the pupil who is assigned this obligation. However this is not a choice that’s earned by the pupil. The majority of the time is filled on a computer. As you might know, functioning at a classroom setting could be draining for a few people.

to do is follow the tips below and you will achieve your objective of getting the help.

सिंह, विभिन्न सामाजिक, धार्मिक, आध्यात्मिक संगठनों के प्रमुख सहित प्रशासनिक अधिाकारी एवं गणमान्य जन प्रत्यक्ष रूप से अवलोकन कर अपना शुभाशीर्वाद प्रदान कर चुके हैं। मिशन का लक्ष्य समाज के ऐसे बच्चों को राष्ट्र की मुख्य धारा से जोड़कर देश का एक स्वावलम्बी एवं स्वाभिमानी नागरिक बनाना है। मातृभूमि सेवा मिशन द्वारा ग्रामीण परिवेश के बेरोजगार युवाओं को अब तक विभिन्न क्षेत्रें में अपने स्तर पर नि:शुल्क कौशल विकास प्रशिक्षण देकर लगभग 500 युवाओं रोजगार देने में सहयोगी रहा है। मिशन द्वारा लगभग 90 दिव्यांगों और 40 युवतियों को भी कौशल विकास के प्रशिक्षण में सहयोगी बन रोजगार परक प्रशिक्षण दिया गया। आज समाज के जरूरतमंद बच्चों एवं युवा पीढ़ी के लिए मिशन आशा के एक दीप के रूप में निरंतर प्रयासरत है।मिशन द्वारा संचालित सेवा प्रकल्प
• मातृभूमि शिक्षा मंदिर जरूरतमंद, असहाय एवं कुष्ठ रोगियों के स्वस्थ बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा एवं मिशन द्वारा संचालित बालअभिमन्यु छात्रवास में आवासीय सुविधा उपलब्ध करायी जाती है ।
वेद विद्यापीठम्-
मिशन प्राचीन एवं आधुनिक शिक्षा में समन्वय स्थापित कर एक विशेष विद्यापीठ के निर्माण में संलग्न है, जिससे विश्व मानवता की सेवा के निमित्त युवा-पीढ़ी तैयार हो सके।
माँ सरस्वती पुस्तकालय-
प्राचीन भारत के विभिन्न महापुरूषों की जीवनियों से संबंधित अनेक सारी पुस्तकों का संग्रह है। पुस्तकालय संस्थान के विद्यार्थियों के लिए बहुत ही उपयोगी एवं महत्वपूर्ण साबित हो रहा है।
कामधेनु गौशाला-
आश्रम के बच्चों के लिए दूध की पूर्ति के लिए एक लघु गौशाला की स्थापना की गई है। जिसमें मिशन के छात्रवास के विद्यार्थियों के लिए दूध का समुचित प्रबंध होता है।
दैनिक गीता ज्ञान यज्ञ-
आश्रम परिसर में प्रतिदिन विद्यार्थियों तथा आश्रम पहुचंने वाले सहयोगियों द्वारा दैनिक गीता ज्ञान यज्ञ किया जाता है।
कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र्-
समाज के जरूरतमंद बच्चों को जो कि आधुनिक शिक्षा का भारी खर्च वहन नहीं कर सकते, उन्हें मिशन द्वारा नि:शुल्क कम्प्यूटर प्रशिक्षण दिया जाता है।
ग्रामीण

A homework helper is the best instrument for helping your child manage their or writing services her homework. This specialist can provide help when it comes to handling your child’s time. It is a substitute for a tutor and might be more affordable than both.

विकास कार्यक्रम –

ग्रामीण क्षेत्रें की प्रतिभाएं जो कि रोजगार के अभाव में निराशा की शिकार हैं, उनको रोजगार परक प्रशिक्षण के माधयम से स्वालम्बन एवं स्वरोजगार के लायक प्रशिक्षित किया जा रहा है।
युवा कौशल विकास एवं स्वरोजगार कार्यक्रम-
मिशन द्वारा बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों से लेकर विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं में उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थी अपनी योग्यता एवं प्रतिभा समाज एवं राष्ट्र के लिए कैसे उपयोग कर सकते है। जिससे उनके जीवन में अपने जीवन के प्रति एक दायित्व बोध पैदा हो। इस हेतु विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम संबंधित संस्थाओं में आयोजित होते है।
• विवेकानन्द संगोष्ठी प्रकोष्ठ-
मिशन द्वारा समय-समय पर देश के महापुरुषों एवं विभिन्न सम-सामायिक विषयों पर सभा, संगोष्ठियों का आयोजन होता रहता है।
• स्वर्णिम-पथ पाक्षिक-
यह मातृभूमि सेवा मिशन का अधिकृत पाक्षिक पत्र् है। यह विभिन्न विषयों पर अनेक लेख आदि प्रकाशित होते हैं। इस पाक्षिक के माध्यम से अनेक सम-सामायिक विषयों पर देश की युवा पीढ़ी को अवगत् कराने का प्रयास

Many students that are currently seeking essay authors on the Internet are not getting what they want. Some of them actually think nevertheless they are disappointed and a little paid composing may get them a great deal of scholarship. What they write my paper are looking for is quality writers. There are lots of college essay writers online and some are even earning fantastic money in an evening. If you want to be among these, you can locate them by doing your homework and only paying for information that you need. Before you cover the main point is to do research on the sources that are online.

रहता है।
• श्रीमद्भगवद्गीता शोध संस्थान-
मिशन द्वारा विगत् 15 वर्षों से अंतरराष्ट्रीय श्रीमद्भगवद्गीता जयंती समारोह का आयोजन कर रहा है। जिसमें देश के अनेक धर्माचार्य, अनेक देशों के माननीय राजदूत, प्रशासनिक अधिकारी एवं सामाजिक क्षेत्र कार्यरत्, अनेक विश्वविद्यालयों के कुलपति व प्रोफेसर, शोधार्थी सहित अनेक गणमान्य जनों की गरिमामयी उपस्थिति रहती है।