मातृभूमि सेवा मिशन

एक परिचय

[metaslider id=39 cssclass=””]

मातृभूमि सेवा मिशन एक आध्यात्म प्रेरित स्वैच्छिक सेवा संगठन है, जो युवाओं की करूणा एवं समाज के दायित्व बोध से संचालित है। मिशन की विधिावत् स्थापना युवा तरूण तपस्वी परिव्राजक डॉ॰ श्रीप्रकाश मिश्र के द्वारा स्वामी विवेकानन्द जयंती एवं राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर 12 जनवरी 2003 को श्रीमद्भगवद्गीता जन्मस्थली कुरुक्षेत्र् में हुआ। मिशन विगत् पंद्रह वर्षों से मानवता की सेवा को अपना लक्ष्य बना कर अनवरत प्रयासरत है। मिशन समाज के कुष्ठ रोगियों के स्वस्थ बच्चों, गरीब असहाय एवं जरूरतमंद बच्चों के सर्वांगिण विकास के लिए समर्पित है।
मिशन द्वारा ऐसे बच्चों को समस्त सुविधाएं नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जाती हैं। मिशन द्वारा अब तक लगभग 250 बच्चों को शिक्षित-दीक्षित कर राष्ट्र एवं समाज की मुख्य धारा से जोड़कर स्वावलम्बी बनाया जा चुका है। मिशन एक स्वैच्छिक संगठन होने के नाते अपने नि:स्वार्थ भाव से सहयोग करने वाले समाज के प्रति स्व-दायित्व बोधा से प्रेरित समूह के साथ निरंतर प्रगति की ओर अग्रसर है। मिशन के द्वारा शीघ्र ऐसे ही 200 बच्चों के लिए

Editors and every personnel that we’ve inside our company are trying to give you the perfect service that we can offer you. Academic writing is the simplest thing to delegate. In fact, the majority of our writers have advanced degrees buy essay cheap Delivered right to your email. Next, decide by yourself if you will need custom essays or not. Essays are becoming more prevalent across the

आवासीय केन्द्र बनाना प्रस्तावित है।
मिशन के सेवा कार्यों को मॉरिसस गणराज्य के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, कैबिनेट मंत्री, उच्चायुक्त, जापान के राजदूत, पूज्य जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी अवधोशानंद गिरि जी महाराज जैसे देश के मूर्धान्य संत, भारत में पदस्थ अनेक देशों के राजदूत सहित, भारत के माननीय सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति एम.एन. वेंकटाचलैया, हरियाणा के पूर्व राज्यपाल, डॉ. आर. किदवई, उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल, माननीय श्री बी.एल. जोशी, हिमाचल के पूर्व राज्यपाल, न्यायमूर्ति वी.एसकोकजे, माननीय उच्च न्यायालय के न्यायाधीश, अनेक प्रांतों के मुख्यमंत्री एवं मंत्री, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के माननीय सह सरकार्यवाह एवं कई अखिल भारतीय अधिकारी, योग गुरु डॉ. एचआर. नागेन्द्र, सीबीआई के पूर्व निदेशक जोगिन्द्र सिंह, विभिन्न सामाजिक, धार्मिक, आध्यात्मिक संगठनों के प्रमुख सहित प्रशासनिक अधिाकारी एवं गणमान्य जन प्रत्यक्ष रूप से

A help guide is hardly something that most folks wish to read through from beginning to finish. Another finding was that some projects simply didn’t move very fast. Not many essay help providers let you do so. Imagine, that you lab report were assigned to compose an essay within several hours. Now you have a definition of academic writing, here are a few things to keep in mind about the features of academic writing. Writing a significant academic composition for school is seen as a challenge for many students owing to its seriousness and technical austerity. Additional an essay writer must also have the ability to offer valid references on the arguments he would want to include in the paragraph. It is difficult for some students especially if they are returning to school several years later. Students find an complete essay newspaper that’s economical in respect to pricing.

अवलोकन कर अपना शुभाशीर्वाद प्रदान कर चुके हैं। मिशन का लक्ष्य समाज के ऐसे बच्चों को राष्ट्र की मुख्य धारा से जोड़कर देश का एक स्वावलम्बी एवं स्वाभिमानी नागरिक बनाना है। मातृभूमि सेवा मिशन द्वारा ग्रामीण परिवेश के बेरोजगार युवाओं को अब तक विभिन्न क्षेत्रें में अपने स्तर पर नि:शुल्क कौशल विकास प्रशिक्षण देकर लगभग 500 युवाओं रोजगार देने में सहयोगी रहा है। मिशन द्वारा लगभग 90 दिव्यांगों और 40 युवतियों को भी कौशल विकास के प्रशिक्षण में सहयोगी बन रोजगार परक प्रशिक्षण दिया गया। आज समाज के जरूरतमंद बच्चों एवं युवा पीढ़ी के लिए मिशन आशा के एक दीप के रूप में निरंतर प्रयासरत है।
                                                       मिशन द्वारा संचालित सेवा प्रकल्प

Then you just have to click our site,

The article thesis should be a plan of attack for that which the body paragraphs are more very likely to be about. Composing is a present that comes. So once you come asking us you can be certain that essay writing we’ll supply you from K-12 to school and beyond. The type of essay you’re searching for will be provided for you. It is going to be sent right to your personal accounts or email, after the essay is ready. A terrible article is some thing that proves that the author did not make an attempt to choose an topic. It is when a reader can’t easily summarize what he read about. On the reverse side, the likelihood of a normal student cans increase to become accepted to even the most prestigious universities. Writing another paper for this particular matter, or an essay, isn’t just writing.

make an order by means of your topic on a superiorpaper to your private writer and he’ll try his very best. Some readers might even conclude you haven’t been in a position to compose your own mind. When you state your topic, we will produce a list of experts who specialize in that specific sphere. Now you understand that an honest and custom writing qualitative on-line essay writing service can offer great assistance for your learning, it’s time to put your order. When a writer gets your purchase, they will start to work on it immediately. Thus, if you prefer to acquire competent writers, experienced editors, and the other professionals work for you, our website is your very best opportunity. Thus, you’re likely to be in a position to begin the essay after you obtain it. Essay writing on the internet is a type of service provided by several online writing businesses.

मातृभूमि शिक्षा मंदिर-
मातृभूमि शिक्षा मंदिर जरूरतमंद, G?nstig! schreibburo असहाय एवं कुष्ठ रोगियों के स्वस्थ बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा एवं मिशन द्वारा संचालित बालअभिमन्यु छात्रवास में आवासीय सुविधा उपलब्ध करायी जाती है ।
वेद विद्यापीठम्-
मिशन प्राचीन एवं आधुनिक शिक्षा में समन्वय स्थापित कर एक विशेष विद्यापीठ के निर्माण में संलग्न है, जिससे विश्व मानवता की सेवा के निमित्त युवा-पीढ़ी तैयार हो सके।
माँ सरस्वती पुस्तकालय-
प्राचीन भारत के विभिन्न महापुरूषों की जीवनियों से संबंधित अनेक सारी पुस्तकों का संग्रह है। पुस्तकालय संस्थान के विद्यार्थियों के लिए बहुत ही उपयोगी एवं महत्वपूर्ण साबित हो रहा है।
कामधेनु गौशाला-
आश्रम के बच्चों के लिए दूध की पूर्ति के लिए एक लघु गौशाला की स्थापना की गई है। जिसमें मिशन के छात्रवास के विद्यार्थियों के लिए दूध का समुचित प्रबंध होता है।
दैनिक गीता ज्ञान यज्ञ-
आश्रम परिसर में प्रतिदिन विद्यार्थियों तथा आश्रम पहुचंने वाले सहयोगियों द्वारा दैनिक गीता ज्ञान यज्ञ किया जाता है।
कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र्-
समाज के जरूरतमंद बच्चों को जो कि आधुनिक शिक्षा का भारी खर्च वहन नहीं कर सकते, उन्हें मिशन द्वारा नि:शुल्क कम्प्यूटर प्रशिक्षण दिया जाता है।
ग्रामीण विकास कार्यक्रम –
ग्रामीण क्षेत्रें की प्रतिभाएं जो कि रोजगार के अभाव में निराशा की शिकार हैं, उनको रोजगार परक प्रशिक्षण के माधयम से स्वालम्बन एवं स्वरोजगार के लायक प्रशिक्षित किया जा रहा है।
युवा कौशल विकास एवं स्वरोजगार कार्यक्रम-
मिशन द्वारा बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों से लेकर विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं में उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थी अपनी योग्यता एवं प्रतिभा समाज एवं राष्ट्र के लिए कैसे उपयोग कर सकते है। जिससे उनके जीवन में अपने जीवन के प्रति एक दायित्व बोध पैदा हो। इस हेतु विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम संबंधित संस्थाओं में आयोजित होते है।
• विवेकानन्द संगोष्ठी प्रकोष्ठ-
मिशन द्वारा समय-समय पर देश के महापुरुषों एवं विभिन्न सम-सामायिक विषयों पर सभा, संगोष्ठियों का आयोजन होता रहता है।
• स्वर्णिम-पथ पाक्षिक-
यह मातृभूमि सेवा मिशन का अधिकृत पाक्षिक पत्र् है। यह विभिन्न विषयों पर अनेक लेख आदि प्रकाशित होते हैं। इस पाक्षिक के माध्यम से अनेक सम-सामायिक विषयों पर देश की युवा पीढ़ी को अवगत् कराने का प्रयास रहता है।
• श्रीमद्भगवद्गीता शोध संस्थान-
मिशन द्वारा विगत् 15 वर्षों से अंतरराष्ट्रीय श्रीमद्भगवद्गीता जयंती समारोह का आयोजन कर रहा है। जिसमें देश के अनेक धर्माचार्य, अनेक देशों के माननीय राजदूत, प्रशासनिक अधिकारी एवं सामाजिक क्षेत्र कार्यरत्, अनेक विश्वविद्यालयों के कुलपति व प्रोफेसर, शोधार्थी सहित अनेक गणमान्य जनों की गरिमामयी उपस्थिति रहती है।